खाती समाज

khati samaj

ABOUT US

समाज का इतिहास चंद्रवंशी खाती समाज श्री पुत्र सहस्त्रबाहु के पुत्र है । समाज के इष्टदेव भगवान जगदीश है , कुलदेवी महागौरी अष्टमी है , कुलदेव भैरव देव और आराध्या देव भोले शंकर है । खाती समाज भगवान परशुर

इस जाती के लोग सुन्दर और गोर वर्ण अर्थात ‘गोरे ’आते है । क्षत्रिय खाती समाज जम्मू कश्मीर के अभेपुर और नभेपुर के मूल
निवासी है आज भी चंद्रवंशी लोग हिमालय क्षेत्र में केसर की खेती करते है । समाज के लिए दोहे प्रसिद्द है ”उत्तर देसी पटक मूलः ,नभर नाभयपुर रे ,चन्द्रवंश सेवा करी ,शंकर सदा सहाय” और ”चंद्रवंशम गोकुलनंदम जयति ”भगवान समाज १२०० वर्ष पहले से ही कश्मीर से पलायन कर

WHY US

जय जगदीश हमारे दुवारा आप को भिन्न भिन्न जानकारी प्रदान की जाती हे जिस से आप को अपने समाज को जानने में मदत मिलेगी जय जगदीश

1 -खाती समाज का इतिहास
2 -खाती समाज के गोत्र 3 -खाती समाज महा अधिवेशन 4 -खाती समाज भेरू महाराज मन्दिर और स्‍थान 5 -खाती समाज की प्रथम महिला न्यायाधीश रविना चौधर 6 -इंदौर के सहयोग से हरिद्वार में बनी खाती समाज की धर्मशाला 7 -प्रेरणादायक विचार

हमारे विशेष कार्य

khati samaj
khati samaj

खाती समाज भेरू मन्दिर और समाज में कुल 105 गोत्र हे और उन गोत्र के भेरू महाराज बी हे आप यहाँ पर जान सकते हे की कोण से भेरू महाराज कहाँ स्तिथ हे और कोण से गांव में और कोण से जिले में यहाँ आप को पता लगेगा की आप कोण से गोत्र से हो और आप के भेरू महाराज कहा ह और आप घर बैठे बैठे दर्शन

khati samaj

खाती समाज के 105 गोत्र हे जिस से हम को पता लगता हे हमारे बेरु महाराज कहा हे 1 भंवरसिया (Bhanvrasiya) 2 बोर्दिया (Dordiya) 3 गुन्घोडिया (Gunghodiya) 4 ननधारिया (Kanodhariya)

khati samaj

समाज का इतिहास चंद्रवंशी खाती समाज श्री पुत्र सहस्त्रबाहु के पुत्र है । समाज के इष्टदेव भगवान जगदीश है , कुलदेवी महागौरी अष्टमी है , कुलदेव भैरव देव और आराध्या देव भोले शंकर है । खाती समाज भगवान परशुराम जी के आशीर्वाद से उत्त्पन्न जाती है .।इस जाती

khati samaj

चंद्रावतीगंज तह. सावेर जिला इंदौर के श्री धर्मराज चौधरी की सुपुत्री रविना चौधरी ने रेनेसा कॉलेज इंदौर से कानून की पदाई पूर्ण कर व्यवहार न्यायाधीश वर्ग दो में चयनित होकर खाती समाज की प्रथम महिला न्यायाधीश बनने का सौभाग्य प्राप्त किया है।

khati samaj

इंदौर। इंदौर के चंद्रवंशी खाती समाज के सहयोग से हरिद्वार में 2 करोड़ 15 लाख रुपए की लागत से धर्मशाला का निर्माण किया गया। 30 कमरों की इस धर्मशाला में तीन हॉल भी बनाए गए हैं। धर्मशाला का उपयोग देशभर के समाजजन कर सकेंगे।

khati samaj

समाज का इतिहास चंद्रवंशी खाती समाज श्री पुत्र सहस्त्रबाहु के पुत्र है । समाज के इष्टदेव भगवान जगदीश है , कुलदेवी महागौरी अष्टमी है , कुलदेव भैरव देव और आराध्या देव भोले शंकर है । खाती समाज भगवान परशुराम जी के आशीर्वाद से उत्त्पन्न जाती है .।इस जाती

खाती समाज के कार्य

खाती समाज के कार्य

khati samaj

गरीब बच्चो की मददत करना

khati samaj

गरीबों को किताब देना पड़ने को

khati samaj

अनाथ को खाना खिलाना

khati samaj

खाती समाज में नुकता करना

खाती समाज के कार्य

खाती समाज

खाती समाज सम्मेलन

खाती समाज के कार्य

जरुरत मंदो को खून प्रदान करना

खाती समाज के कार्य

गो सेवा हमारा पहला कार्य

खाती समाज के कार्य

पेड़ो की कटाई रोकना और पेड़ लगाना

TESTIMONIAL

khati samaj
khati samaj

ME KHATI SAMAJ KA EK SEVA DAR HU OR ME SAMAJ ME JO HO RAHA H US APNE MADHYAM SE AAP TK POHCHA RAHA HU

Ankit MUKATI

CEO/PRESIDENT

devendra mukati-khati samaj

mera kaam he jo bi samaj me ho raha hu us me facebook whatsapp or anyai social media ke madhayam se logo tak pohchata hu

DEVENDRA MUKATI

Social Media Manager

ravi choudharey-khati samaj

mera kaam samaj ki balai me jo bi kharacha ho ta he ya kahi len den hota he us ka pura hisab mere hatho me rahta he

RAVI CHOUDHARY

Account Manager

GALLERY

SUBSCRIPTION

khati samaj

Want to receive regular news and updates to your inbox?

Scroll to top